Ad

HOW TO START TEA BAG MAKING BUSINESS IN HINDI (टी बैग बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें)

HOW TO START TEA BAG MANUFACTURING BUSINESS IN INDIA:-




दोस्तों चाय का सेवन आप लोगों ने देखा होगा कि हमारे देश में चाहे वह ग्रामीण क्षेत्र में लोग रहते हो चाहे वह शहर में रहते हैं लगभग 99% लोग चाय का सेवन करते हैं जहां पर कुछ लोग चाय पत्ती को उबाल करके बनाई गई चाय पीना पसंद करते हैं वहीं पर कुछ व्यक्ति ऐसे होते हैं जो चायपत्ती के बैग से बनाई गई चाय पीना पसंद करते हैं ,हालांकि शहरी इलाकों में आजकल चायपत्ती के बैग के जरिए बनाई जाने वाली चाय का सेवन अधिक मात्रा में किया जाता है और इसे लोग ज्यादा पसंद करते हैं | तो आज मैं आपको इस पोस्ट में बताऊंगा कि कैसे आप चायपत्ती के बैग बनाने का जो व्यापार है उसको कैसे आप शुरू करें |

दोस्तों गैस पर या चूल्हे पर बनाई जाने वाली चाय की तुलना में चाय पत्ती के बैग वाली चाय काफी जल्दी बन जाती है और काफी आसान भी होता है | इसलिए ज्यादातर ऑफिस और होटलों में टी बैग वाली चाय बनाई जाती है जिसके कारण पूरे देश में चाय पत्ती बेचने वाली जो कंपनियां होती हैं वह अब टी बैग वाली चाय पत्ती भी बेचना शुरू कर दी हैं

इसलिए अगर आप इस बिजनेस में अपना इंटरेस्ट रखते हैं तो आप इस बिजनेस को बड़े ही आसानी से शुरू कर सकते हैं |


चाय पत्ती की वैरायटी :-


दोस्तों चाय पत्ती का बिजनेस जो लोग करते हैं वह लोग जानते हैं कि इसमें कौन-कौन से और किस - किस प्रकार की चाय पत्ती आती है लेकिन आप इस बिजनेस में नए हैं तो मैं आपको बता दूं कि भारत के कई राज्यों में चाय के बागान हैं और इन्हीं बागानों से चाय पत्ती की सप्लाई पूरे देश में की जाती है अगर आप बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आपको चाय पत्तियों की वैरायटी के बारे में जानना बेहद जरूरी है जो चायपत्ती के वेराइटी हैं वह निम्न प्रकार से हैं -

  1. सफेद चाय  (White Tea)
  2. ग्रीन टी        (Green Tea)
  3. ऊलौंग टी    (Oolong Tea)
  4. हर्बल टी       (Herbal Tea)
  5. ब्लैक टी       (Black Tea)


टी बैग का बिजनेस शुरू करने के लिए प्लान कैसे करें :-

टी बैग बनाने का बिजनेस अगर आप शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने आसपास के मार्केट में रिसर्च करना होगा और उसी के आधार पर अपना एक बिजनेस प्लान तैयार करना होगा क्योंकि आपके द्वारा तैयार की गई इस बिजनेस की प्लान की मदद से ही आपको चायपत्ती के बैग के व्यापार को स्थापित करने में सहायता मिलेगी और साथ ही इस व्यापार से जुड़े लाभ और हानि के बारे में आपको पता चल सकेगा |



चाय पत्ती के बैग बनाने में इस्तेमाल होने वाला रॉ मटेरियल :-

  1. फिल्टर पेपर (Filter Paper)
  2. चायपत्ती  (Tea)
 इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको केवल दो प्रकार के रा मटेरियल की आवश्यकता होती है जो अभी मैंने आपको ऊपर बताया है |



फिल्टर पेपर क्या है? 

  • दोस्तों टी बैग बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाला जो पेपर होता है उसी को फिल्टर पेपर कहते हैं फिल्टर पेपर (Abaca) फाइबर से बनाया जाता है और यह फाइबर फिलीपीन केले के पत्तों से प्राप्त किया जाता है जिसे मनीला हंप के रूप में भी जाना जाता है | 
  • फिल्टर पेपर के अंदर चायपत्ती को भरा जाता है और पेपर सहित चायपत्ती को गर्म पानी में डालकर चाय बनाई जाती है | 
  • टी बैग को बनाने में इस्तेमाल की जाने वाले फिल्टर पेपर का जो कागज होता है वह बहुत ही पतला और हल्का होता है इसके अलावा यह पेपर आसानी से गीला भी नहीं होता है जिसके कारण यह पेपर गर्म पानी में नहीं घुल पाता है गर्म पानी में पेपर के अंदर की चाय आसानी से घुल जाती है और चाय बनकर तैयार हो जाता है | 


फिल्टर पेपर और चाय कहां से खरीदें:-


दोस्तों अगर आप चाय पत्ती लेना चाहते हैं और फिल्टर पेपर लेना चाहते हैं तो इसके लिए आप ऑनलाइन Google पर सर्च कर सकते हैं वहां पर आपको बहुत सारे ऐसे वेबसाइट मिल जाएंगे जहां से आप चाय पत्ती और फिल्टर पेपर दोनों को Purchase कर सकते हैं लेकिन एक बात का खास ख्याल रखें जब भी आप फिल्टर पेपर और चाय पत्ती को लेने जाए तो उसकी गुणवत्ता को जांच-परख कर तभी सामान को खरीदें |



टी बैग बनाने के लिए आवश्यक मशीनरी एवं उपकरण:-

दोस्तों इसके लिए जो मशीनें आती हैं उन्हें टी बैग मेकिंग मशीन के नाम से जाना जाता है यह मार्केट में मैनुअल से लेकर ऑटोमेटिक दोनों प्रकार की मशीनें उपलब्ध हैं आप अपने बजट के हिसाब से मशीनों को खरीद सकते हैं अगर आप ऑटोमेटिक मशीन यानी बिजली से चलने वाली मशीन को लेना चाहते हैं तो उसका जो लागत होगा वह थोड़ा सा ज्यादा आएगा ,और अगर आप मैनुअल मशीन यानी हाथ से चलने वाली मशीन को लेना चाहते हैं तो उसका जो लागत आएगा वह थोड़ा सा कम आएगा |


चाय को टी बैग में भरने की प्रक्रिया :-

  • दोस्तों चायपत्ती को खरीदने के बाद में जो प्रोसेस होगा वह होगा चायपत्ती को टी बैग में भरने का तो इसके लिए आप मशीन की मदद से फिल्टर पेपर में आप इसे भर सकते हैं आमतौर पर एक चाय बैग में लगभग 1 से लेकर 4 औंस चाय पत्ती भरी जाती है 
  • फिल्टर पेपर में चाय पत्ती को भरने के बाद उस पेपर को टी बैग मेकिंग मशीन की मदद से सील किया जाता है और उस पेपर के साथ एक धागा जोड़ा जाता है 
  • अगर आप चाहें तो अपने टी बैग पेपर पर अपनी कंपनी का लोगो भी लगा सकते हैं हालांकि ऐसा करने के लिए आपको पेपर पर लोगो छापने वाली मशीन के लिए किसी कंपनी से संपर्क करना पड़ेगा |


 Tea Bag Making बिजनेस हेतु आवश्यक लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन :-


जहां तक टी बैग मेकिंग बिजनेस शुरू करने के लिए स्थानीय नियमों की बात है तो यह राज्य एवं शहर के आधार पर अलग - अलग हो सकते हैं ,लेकिन शुरुआती दौर में अगर उद्यमी चाहे तो अपने बिजनेस को One Person Company के तहत रजिस्टर करा सकता है ,अपने बिजनेस को रजिस्ट्रेशन करा लेने के बाद उद्यमी को अपने व्यापार को वर्तमान कर प्रणाली के अंतर्गत पंजीकरण कराना पड़ सकता है यानी आपको GST Registration भी कराना पड़ेगा | यह सब करने से पहले उद्यमी को अपने व्यापार के नाम से पैन कार्ड एवं चालू खाता खोलना पड़ सकता है ,इन सबके अलावा उद्यमी चाहे तो अपने बैग मेकिंग बिजनेस को उद्योग आधार के तहत भी पंजीकृत करा सकता है |


दोस्तों आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा हमें Comment में जरूर बताएं और आप हमारे पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ Share करना बिलकुल न भूलें और हमारे Blog पर इसी तरह के नए Business Ideas को पढ़ने के लिए हमारे Blog को Subscribe करें | धन्यवाद


1 comment: