Ad

Honey Bee Farming in Hindi 2020 | मधुमक्खी पालन व्यवसाय कैसे शुरू करें ?

आज हमारे देश में Honey Bee Farming अर्थात मधुमक्खी पालन व्यवसाय करके कई लोग लाखों रूपये कमा रहे हैं हमारे दैनिक जीवन में शहद का उपयोग बहुत ज्यादा किया जाता है हमारे देश के अलावा अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों में शहद की उपयोगिता को देखते हुए कई लोगों ने इसे अपना व्यवसाय बना डाला और आज बहुत ज्यादा मुनाफा कमा रहे हैं 

आपने कई बार अच्छी सेहत के लिए शहद का इस्तेमाल किया होगा शहद में अनेक औषधीय गुण होते हैं यही कारण है की शहद को औषधि के रूप में माना जाता है लोग अपनी त्वचा में निखार लाने के लिए, पाचन ठीक रखने के लिए, अपनी इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने के लिए, वजन इत्यादि को कम करने के लिए शहद का इस्तेमाल करते हैं इसके अलावा शहद से घाव भरने या चोट में आराम दिलाने में बहुत ही लाभदायक होता है 

दैनिक जीवन में उपयोगिता को देखते हुए मधुमक्खी पालन व्यवसाय आपके लिए एक बेहतर विकल्प हो सकता है यदि आप भी जानना चाहते हैं कि Apiculture in Hindi अर्थात Honey bee farming कैसे किया जाए? कई बार बहुत से लोगों को Honey bee farming information सही से नहीं मिल पाता है जिससे लोग परेशान हो जाते है

तो इस आर्टिकल (how to start honey bee farming) को पूरा जरूर पढ़िए इस व्यवसाय को शुरू करने से पहले बहुत से लोगों के मन में कई सारे प्रश्न होते हैं जैसे कि इस व्यवसाय को कैसे शुरू किया जाए? शहद कैसे बनता है? बाजार में शहद की मांग कितनी है? इत्यादि 

आज मधुमक्खी पालन से आप शहद के अलावा मोम भी प्राप्त कर सकते हैं जिसकी मार्केट में बहुत अधिक मांग है इसलिए आप शहद और मोम दोनों का उत्पादन करके मार्केट में सेलिंग करके अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं 

मधुमक्खी पालन व्यवसाय के लिए क्या-क्या चाहिए? (honey bee farming requirements)


सबसे पहले मधुमक्खी पालन व्यवसाय (apiculture farming) शुरू करने के लिए आपको किसी ऐसे स्थान का चयन करना होगा जहां पर आपकी मधुमक्खियां सुरक्षित रह सकें लगभग 200 मधुमक्खियों की पेटी Honey Bee Farming Box रखने के लिए कम से कम 2 से 3 हजार स्क्वायर फीट जगह की आवश्यकता पड़ेगी

उसके बाद आपको मधुमक्खियां खरीदनी पड़ेगी इस उद्योग के लिए विदेशी मधुमक्खियों को खरीदा जाता है जिससे आप शहद का उत्पादन करेंगे यह मधुमक्खियां आपको पेटी के हिसाब से मिल जाती हैं इसके अलावा आपको कुछ अन्य चीजों की भी जरूरत पड़ेगी जैसे-

Honey bee farming equipment


  • चाकू 
  • कपड़ा या जाली 
  • विभिन्न प्रकार के मोटे और पतले ब्रश 
  • डंक निकलने का उपकरण 
  • रिमूविंग मशीन 
  • ड्रम 
  • shoes 
  • ग्लव्स 
  • Bee Feeder 
  • Honey Extractor 

मधुमक्खी पालन के लिए सही प्रजाति का चुनाव (Types of Bee)

जो मधुमक्खियाँ सबसे अच्छी मात्रा में शहद बनाती हैं उनकी कुछ प्रजाति निम्न है -
  1. एपिस मेलिफेरा
  2. एपिस इंडिका 
  3. एपिस डोरसला 
  4. एपिस फ्लोरिया 
एपिस मेलिफेरा सर्वाधिक अंडे देने वाली मधुमक्खी होती है एक ही छत्ते में मधुमक्खियाँ तीन प्रकार की होती हैं जैसे रानी मधुमक्खी, श्रमिक मधुमक्खी एवं नर मधुमक्खी तीनो का काम अलग-अलग होता है रानी मधुमक्खी केवल एक होती है जिसका काम केवल बच्चे पैदा करना ही है रानी मधुमक्खी की आयु लगभग 1 साल, नर मधुमक्खी की आयु लगभग 6 महीने और श्रमिक मधुमक्खी की आयु लगभग 2 महीने होती है



मधुमक्खी पालन करने का सही समय व सही जगह 

वैसे तो मधुमक्खी पालन करने के लिए सही समय नवंबर से जनवरी के बीच होता है लेकिन मधुमक्खी पालन करने के 2 से 3 महीने पहले अपना पूरा honey bee farming business plan बनाकर रखें और अपने मधुमक्खी पालन फार्म में सभी जरूरी चीजों की व्यवस्था कर ले ताकि बाद में आपको कोई भी दिक्कत ना हो 

अगर हम बात करें जगह की तो आप मधुमक्खी पालन ऐसे जगह पर शुरू करें जहां पर फूलों की उचित व्यवस्था हो क्योंकि मधुमक्खियों क्योंकि आप मधुमक्खी के छत्ते से शहद तभी प्राप्त कर सकते हैं जब उन्हें पर्याप्त मात्रा में रस पीने के लिए फूलों की उपलब्धता होगी 

मधुमक्खी पालन के लिए प्रशिक्षण (Honey Bee Farming Training)

यदि आप मधुमक्खी पालन करना चाहते हैं और मधुमक्खी पालन से अच्छी इनकम प्राप्त करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको मधुमक्खी पालन व्यवसाय की सारी जानकारी प्राप्त करनी पड़ेगी और यह तभी संभव है जब आप किसी प्रशिक्षण केंद्र से प्रशिक्षण लेंगे 

Honey Bee Farming in India में शूरू करने के लिए सरकार भी प्रोत्साहित करती है और सरकार के द्वारा आप इस http://www.kvic.gov.in/ वेबसाइट पर जाकर प्रशिक्षण केंद्र का पता जान सकते हैं और उस केंद्र पर जाकर ट्रेनिंग ले सकते हैं मधुमक्खी पालन का प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए फीस 3 से ₹5000 तक होता है जिसे सीखने के बाद आप अच्छी तरीके से इस व्यवसाय का संचालन कर सकते हैं और मोटा मुनाफा कमा सकते हैं

शहद निकालने की प्रक्रिया (Honey Production Process in India in Hindi)

Bee Keeping Business में जब आपको लगे कि मधुमक्खी के छत्ते में रस अच्छी तरीके से आ गया है तो इसके बाद सबसे पहले मधुमक्खी को छत्ते से निकालने की आवश्यकता होती है बहुत से लोग हाथों से ही शहद निकाल लेते हैं लेकिन यदि आप बड़े पैमाने पर इस व्यवसाय को कर रहे हैं तो मशीन से शहद निकालना काफी आसान होगा मशीन से शहद निकालने के लिए मशीन के सांचे में मधुमक्खी के छत्ते को व्यवस्थित तरीके से लगा दिया जाता है इसके बाद मशीन को चालू करके शहद निकाल लिया जाता है

शहद निकालने के बाद किसी ड्रम में स्टोर करके रख लिया जाता है एक निश्चित तापमान पर उसे 24 घंटे के लिए रखा जाता है इसके बाद शहद पैकिंग करने के लिए या मार्केट में सेल होने के लिए तैयार हो जाता है शहद निकालने के साथ-साथ आप मोम को भी निकालकर स्टोर कर सकते हैं और उसे भी मार्केट में सेल कर सकते हैं


मधुमक्खी पालन से बने शहद और मोम को कहां बेचे 


भारत में कई ऐसी कंपनियां हैं जो शहद का इस्तेमाल करके नए उत्पादों को बनाते हैं ऐसे में आप उन कंपनियों से कांटेक्ट कर सकते हैं और अपने प्रोडक्ट को उनको बेंच सकते हैं इसके अलावा गांव देहात के क्षेत्रों में भी शहद की काफी ज्यादा डिमांड होती है तो आप अपना प्रचार प्रसार कर के गांव देहात में भी शहद को बेंच सकते हैं

अपने आसपास के इलाकों में जो छोटी-छोटी दुकानें होती हैं जैसे किराना शॉप, मेडिकल शॉप आदि वहां पर आप शहद को बेंच सकते हैं आप शहद के मार्केटिंग को अच्छा बनाने के लिए जगह-जगह पर पोस्टर लगवा सकते हैं इसके अलावा आप आप अखबारों में ऐड दे सकते हैं ऐसा करने से जिन लोगों को शहद की आवश्यकता होगी वो लोग आपसे कांटेक्ट करेंगे

मधुमक्खी पालन में आने वाली लागत (honey bee farming project)

आप इस व्यवसाय को 20 पेटी की सहायता से शुरू कर सकते हैं 20 पेटी से यदि आप इस व्यवसाय को शुरू करते हैं तो इस में आने वाला कुल honey bee farming cost लगभग ₹1 लाख का होगा इस व्यवसाय में हर वर्ष मधुमक्खियों की संख्या लगभग 3 गुना हो जाता है मतलब कि अगर आपने 20 पेटी से इस व्यवसाय को शुरू किया है तो अगले वर्ष में यह 50 से 60 पेटी हो जाएगा

मधुमक्खी पालन व्यवसाय से लाभ (Honey Bee Farming Income in India)

हर महीने मधुमक्खियों की संख्या बढ़ती जाती है मतलब कि जितना ज्यादा मधुमक्खियों की संख्या होगी उतनी अधिक मात्रा में आप शहद का उत्पादन कर पाएंगे इस हिसाब से इस व्यवसाय में हर वर्ष में आपका प्रोडक्शन बढ़ता जाएगा पहले वर्ष में आपको मुनाफा थोड़ा कम होगा लेकिन जैसे-जैसे प्रोडक्शन बढ़ता जाएगा वैसे-वैसे आप का मुनाफा (honey bee farming income) भी बढ़ता जाएगा 

एक अनुमानित तौर पर एक पेटी (Honey bee farming box) में 4 से 5 किलोग्राम शहद निकलता है 20 पेटी से आप लगभग 100 किलोग्राम शहद निकाल सकते हैं शहद बाजार में 100 से ₹150 प्रति किलो में बिक जाता है इस तरह से आप पहले महीने में लगभग 10 से ₹15 हजार की कमाई कर सकते हैं इसके बाद जैसे-जैसे आप का शहद का उत्पादन बढ़ता जाएगा उस हिसाब से आपकी कमाई भी बढ़ती जाएगी

सरकार से छूट (Subsidy on Beekeeping in India)


यदि आप MSME विभाग के द्वारा चलाई गई योजना के तहत मधुमक्खी पालन करते हैं तो आप लोन भी ले सकते हैं इस व्यवसाय की स्थापना के लिए कुल लागत का 65% हिस्सा ऋण के तौर पर दिया जाता है सरकार के द्वारा चलाई गई इस योजना में मधुमक्खी पालक को 25% का subsidy दिया जाता है इस तरह से आपको Beekeeping व्यवसाय शुरू करने के लिए केवल 10% ही लगाना होता है इस प्रकार आप honey bee farming subsidy प्राप्त कर सकते हैं 

लाइसेंस (License for Bee keeping)


क्योंकि यह एक खाद्य पदार्थ है इसलिए सबसे पहले आपको सरकारी खाद्य विभाग में शहद की जांच करा कर FSSAI अर्थात फूड लाइसेंस प्राप्त करना पड़ेगा इसके बाद आपको अपने प्लांट का उद्योग आधार पंजीकरण करना पड़ेगा अपने फर्म के नाम पर एक करंट बैंक अकाउंट खुलवाने की आवश्यकता होती है साथ ही आपके पास पैन कार्ड होना जरूरी है इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आपको ट्रेड लाइसेंस लेने की आवश्यकता होती है और साथ ही टैक्स का भुगतान करने के लिए जीएसटी रजिस्ट्रेशन भी कराना पड़ सकता है

मधुमक्खी पालन व्यवसाय में सावधानियां (Beekeeping  business precautions)

मधुमक्खी पालन व्यवसाय में निम्न सावधानियां बरतनी आवश्यक है -

  1. मधुमक्खी पालन व्यवसाय में आपको यह विशेष ध्यान में रखना है कि जिस मधुमक्खी से शहद का उत्पादन अधिक हो उसी प्रजाति की मधुमक्खी का पालन करें 
  2. मधुमक्खी पालन व्यवसाय आप जिस जगह पर शुरू कर रहे हैं उस स्थान को साफ सुथरा रखें 
  3. कई बार क्या होता है कि बहुत सारे कीट मधुमक्खियों को नुकसान पहुंचाते हैं जैसे छिपकली आदि मधुमक्खियों को खा जाती हैं तो इन सब का विशेष ध्यान आपको रखना पड़ेगा 
  4. शहद निकालते समय कभी-कभी मधुमक्खियां डंक भी मार देती हैं इसके बाद आपको चिकित्सक की परामर्श भी लेनी पड़ सकती है 
  5. मधुमक्खी के छत्ते से शहद निकालने से पहले जूते, ग्लव्स तथा मुंह के बचाव के लिए जरूरी चीजें पहनना न भूलें।
  6. जिस बर्तन में आप शहद निकालने जा रहे हैं उस बर्तन को साफ सुथरा रखें।
  7. छत्ते से शहद निकालने से पहले यह देख ले कि उसमें अंडे तो नहीं है यदि अंडे उसमें ना हो तो आप शहद निकाल सकते हैं 
  8. यदि आपको शहद निकालने की जानकारी नहीं है तो आप मधुमक्खी पालक की सहायता से शहद निकलवा सकते हैं 
  9. मधुमक्खियों को रोग आदि से बचाने के लिए पानी में चीनी मिलाकर देने से मधुमक्खियों के अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी रहती है।

निष्कर्ष (Conclusion)

दोस्तों अगर आप Honey Bee Farming अर्थात मधुमक्खी पालन का व्यवसाय करना चाहते हैं तो ऊपर बताये गए इन सभी चीजों का ध्यान रखना पड़ेगा साथ ही आप किसी अच्छे ट्रेनर से ट्रेनिंग लेकर इस व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं व्यवसाय Bee farming शुरू करने से पहले पूरी प्लानिंग करें ताकि आपको बाद में किसी भी दिक्कत का सामना ना करना पड़े इसीलिए मैंने आपको Honey Bee Farming in Hindi में अच्छे से समझाया है 

तो दोस्तों ये पोस्ट यानी Madhumakkhi Palan in Hindi आपको कैसा लगा कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद

इसे भी पढ़िए -







No comments